Himachal-Pradesh-Shimla-Tatkal-Smachar-solar-power-generation
State government's multi-pronged efforts to promote solar energy

राज्य सरकार द्वारा सौर ऊर्जा उत्पादन के क्षेत्र मेंप्रस्तावित निवेश से हिमाचल प्रदेश के अमूल्य पर्यावरण संरक्षण में बहुप्रतीक्षित सुपरिणाम सुनिश्चित होंगे। पारिस्थितिकी तंत्र के संरक्षण से हरित एवं स्वच्छ हिमाचल की राहप्रशस्त होगी, वहीं मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू के हिमाचल प्रदेश को हरित ऊर्जा राज्य बनाने के सपने को साकार करने में भी यह अहम भूमिका निभाएगा।प्रदेश सरकार हिमाचल में सौर ऊर्जा उत्पादन कोनवोन्मेषी प्रयासों से बढ़ावा दे रही है। प्रदेश सरकार उपभोक्ताओं कोसस्ती दरों पर हरित एवं स्वच्छ ऊर्जा उपलब्ध करवाने के साथ कार्बन उत्सर्जन को भी कमकरने के लिए सार्थक प्रयास कर रही है।राज्य सरकार इस महत्वपूर्ण क्षेत्र में निवेश को बढ़ावा देने के लिए निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों को प्रदेश में परियोजनाएं स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है। प्रदेश में देश के सार्वजनिक क्षेत्र का प्रमुख उपक्रम सतलुज जलविद्युत निगम लिमिटेड पांच सोलर पॉवर परियोजनाएं स्थापित करने जा रहा है।ऊना जिला के थपलान में 112.5 मेगावाट क्षमता, भंजाल और कध में 20 मेगावाट,कांगड़ा जिला के फतेहपुर में 20 मेगावाट, सिरमौर जिला के कोलर में 30 मेगावाट और कांगड़ा जिला के राजगीर में 12.5 मेगावाट क्षमता की सौर पॉवर परियोजनाएं पूर्व निर्माण चरण में हैं।मुख्यमंत्री ने आश्वस्त किया है कि इन परियोजनाओं के निर्माण के लिए सरकार निष्पादन एजेंसी को हर संभव सहायता प्रदान करेगी। https://www.tatkalsamachar.com/shimla-cabinet-decisions/ कंपनी को सुविधा प्रदान करने के लिए फ्री-होल्ड निजी भूमि की खरीद के लिए नीति में संशोधन के लिए आवश्यक कदम भी उठाएगी।विद्युत परियोजनाओं के कार्यान्वयन की निगरानी के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया जाएगा ताकि निर्धारित समय अवधि में इन परियोजनाओं को पूरा किया जा सके। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here