Shimla-Congress-Bjp-Election-Tatkal-Samachar
Bhupesh Baghel is repeating the same promises in Himanchal which he could not fulfill in Chhattisgarh: Kashyap

शिमला, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप ने कहा की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल हिमांचल प्रदेश चुनाव में बड़े बड़े चुनावी वादे कर राहे हैं, भूपेश बघेल वो ही वादे हिमांचल में दोहरा रहे जसे छत्तीसगढ़ में वे पूरा नहीं कर पाए और हिमांचल में छत्तीसगढ़ मॉडल का ढोल पिट राहे जबकि छत्तीसगढ़ में घोषणा वीर भूपेश के झूठे वादों का ढोल फट चुके हैं।

कश्यप ने कहा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल हिमांचल में कांग्रेस सत्ता में आई तो 300 यूनिट घरेलू बिजली मुफ्त का वादा कर रहे हैं जबकि सच्चाई यह है कि छत्तीसगढ़ में बिजली बिल हॉफ करने का वादा करने वाले भूपेश बीते 4 वर्षों में छत्तीसगढ़ में 2 बार बिजली के टैरिफ में वृद्धि कर छत्तीसगढ़ की जनता को ठग चुके हैं।

हिमांचल में 18 से 60 साल की महिलाओं को प्रति माह 1,500 रुपये भत्ता देने की बात करने वाले छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ में बुजुर्गों को 1500 मासिक पेंशन का वादा किया था आज तक एक रुपया नहीं दिया। https://www.tatkalsamachar.com/una-election-campaign/ युवाओं को 2500 रुपया भत्ता देने का वादा किया था हिमांचल की जनता को यह सुन कर आश्चर्य होगा कि छत्तीसगढ़ कांग्रेस अपने 2500 रुपये भत्ता देने के वादे से 4 वर्षों में ही साफ़ तौर पर मुकर चुकी है और कांग्रेस का कहना हैं कि ऐसा कोई वादा किया ही नहीं गया।

कश्यप ने कहा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल हिमांचल में कर्मचारीयों के हित की बात कर रहे हैं जबकि सच्चाई यह हैं कि देश में छत्तीसगढ़ एकमात्र ऐसा राज्य हैं जहां सबसे ज्यादा कर्मचारियों को प्रताड़ित किया गया हैं, कर्मचारी आत्महत्या तक करने मजबूर हैं। कर्मचारियों के धरने प्रदर्शन आंदोलन को अनेको बार छत्तीसगढ़ सरकार ने बर्बरतापूर्वक कुचलने का काम किया, कर्मचारियों को लाठियों से पिटवाने के साथ साथ बर्बरता का आलम यह हैं कि पुलिस के जूतों से कर्मचारियों सर कुचले गए, कर्मचारियों को सड़क पर दौड़ा दौड़ा कर मुक्के और लाठी से मारा गया। बीते 4 वर्षों में तमाम कर्मचारी वर्गों ने अनेक आंदोलन किये पर छत्तीसगढ़ सरकार ने एक की भी सुध नहीं ली।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल स्वरोजगार का वादा कर रहे हैं, छत्तीसगढ़ में सीएम भूपेश बघेल के दावे के हिसाब से बेरोजगारी दर 0.1 प्रतिशत हैं और सच्चाई यह हैं कि छत्तीसगढ़ में चपरासी के 90 रिक्त पदों के लिए सवा दो लाख आवेदन आते हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल विज्ञापनों में छत्तीसगढ़ में 5 लाख नौकरी देने का दावा करते हैं और विधानसभा में सदन में जहां वे झूठ नहीं बोल सकते महज 18 हजार नौकरी देने की बात स्वीकारते हैं। सीएम बघेल विज्ञापन में 5 लाख और धरातल पर 18 हजार का फर्क स्वीकार कर साबित करते हैं कि वे कांग्रेस के सबसे बड़े फेकू हैं।

छत्तीसगढ़ में किसानों को प्रताड़ित करने वाले उन्हें आत्महत्या के लिए मजबूर करने वाले यहां तक की आत्महत्या के बाद किसान को मानसिक रोगी तक बताने वाले छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल किस मुह से हिमांचल में किसानों की बात कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ में किसानों का कर्ज माफ नहीं कर पाए, किसानों को खाद बीज के नाम पर तरसाया जाता हैं, खाद माफ़िया, बीज माफ़िया के चलते किसान कालाबाजारी का शिकार हो रहे हैं, किसानों का रकबा काट कर उनकी जमीन हड़पी जा रही हैं। किसानों को प्रताड़ित किया जा रहा हैं, बारदाने तक की व्यवस्था नहीं कर पाने वाले सीएम भूपेश बघेल हिमांचल में झूठे सपने दिखाने का प्रयास कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार की लापरवाही के चलते आदिवासियों को भाजपा शासन में मिलने वाला 32 प्रतिशत आरक्षण घट कर 20 प्रतिशत रह गया इससे शर्मनाक और कोई बात नहीं हो सकती, भाजपा शासन मे छत्तीसगढ़ में 2012 से लगातार अनुसूची क्षेत्र में विशेष आरक्ष का सीधा लाभ एससी और एसटी वर्ग को मिलता था वह लाभ भी कांग्रेस के राज में छीन लिया गया हैं और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल हिमांचल में एससी एसटी वर्ग के मुद्दे को प्रमुखता से उठाने की बात करते हैं यहां क्या कपिल शर्मा शो चल रहा हैं क्या खुद का संभल नहीं रहा हिमांचल संभालने चले मुह धो कर आईना देंखे भूपेश उन्हें अनुचुचित जाती अनुसूचित जनजाति वर्ग कभी माफ नहीं करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here