पैर फिसलने से नदी में लापता हुई थी महिला पर्यटक

हिमाचल प्रदेश की पार्वती वैली में पर्यटकों के लापता होने के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं बीते 4 दिन पहले तीर्थन नदी में बही महिला का अभी तक सुराग नहीं लग पाया है जिसके लिए कुल्लू पुलिस की टीम ने एक विशेष जांच दल का गठन किया है डीएसपी बंजार शेर सिंह की अगुवाई में गठित टीम में 100 से अधिक लोगों को रेस्क्यू दल में शामिल किया गया है जो लगातार तीर्थन नदी के किनारे तलाशी अभियान जारी रखे हुए हैं डीआईजी मधुसूदन शर्मा ने बताया कि पर्यटकों की सुरक्षा को देखते हुए विशेष अभियान भी शुरू किया जाएगा जिसमें पर्यटकों को जागरूक करने के साथ-साथ हादसों में कमी लाने की कोशिश भी की जाएगी कुल्लू में पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए डीआईजी मधुसूदन ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में आने वाले पर्यटक बहुत बार लापता हो रहे हैं ऐसे में स्थानीय लोगों सहित कारोबार से जुड़े लोगों को भी पर्यटकों को जागरूक करने के लिए अभियान चलाए जाएंगे वही मणिकर्ण के ग्राहण में लापता हुए अक्षय सेठी का भी 22 दिन बाद भी पता नहीं चल पाया है जिसको लेकर कुल्लू पुलिस की ओर से लगातार अभियान चलाए जा रहे हैं जबकि हेलीकॉप्टर, रेस्क्यू टीम, और स्थानीय लोगों की मदद से भी सर्च ऑपरेशन चलाया गया है. लेकिन लापता युवक अक्षय सेठी का कुछ पता नहीं चला है. फिलहाल, कुल्लू पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और उसकी तलाश की जा रही है. डीआईजी मधुसूदन ने कहा कि जिला में लापता हुए लोगों के बारे में अगर किसी स्थानीय व्यक्ति को जानकारी है तो वह भी उसकी सूचना कुल्लू पुलिस से साझा कर सकते हैं सूचना देने वाले व्यक्ति का नाम गुप्त रखा जाएगा डीआईजी मधुसूदन ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में नदी नाले देखने को बेशक छोटे लगते हैं लेकिन यहां का जलस्तर काफी तेज होता है ऐसे में पर्यटकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए जगह-जगह सावधानी बोर्ड भी लगाए जाएंगे और पुलिस की गश्त भी बढ़ाई जाएगी ताकि आने वाले समय में इस तरह के हादसों में कमी लाई जा सके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here